अब अयोध्याधाम जाने वाले टैक्सी और टूरिस्ट बसों के ड्राइवरों का होगा ड्रेस कोड, परिवहन विभाग का पूरा मसौदा तैयार, देखे पूरी रिपोर्ट।

0 361

- Advertisement -

अब उत्तर प्रदेश का परिवहन विभाग द्वारा अयोध्या जाने वाले और अयोध्या में गाड़ियां चलाने वाले ड्राइवरों को विशेष रूप से प्रशिक्षित किए जाने की जानकारी मिल रही है।यह भी सूचना मिल रही है कि परिवहन विभाग ने अपनी बैठक में यह भी तय किया है कि टैक्सी और सभी टूरिस्ट बस वाहन स्वामियों के साथ बैठक कर उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। अयोध्या जाने वाले टैक्सी और टूरिस्ट बसों के ड्राइवरों को संवेदनशील बनाए जाने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जायेगा।

- Advertisement -

अयोध्या धाम के कितने परिधि में अब चालकों के होंगे ड्रेस कोड, पर्यटकों व श्रद्धालुओं को लेकर क्या हुई है तैयारी?*

इसके साथ ही परिवहन विभाग लखनऊ से अयोध्या, गोरखपुर से अयोध्या तथा सुल्तानपुर से अयोध्या के बीच पड़ने वाले सभी टोल प्लाजा पर पर्यटकों और श्रद्धालुओं की सहायता के लिए विभाग का हेल्प डेस्क स्थापित करेगा. लोगों के सुरक्षित सफर के लिए सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों का होर्डिंग, समाचार पत्रों, पब्लिसिटी वैन, डिजिटल बैनर तथा अलग अलग सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार भी करेगा. यही नहीं, सड़क सुरक्षा के दृष्टिगत राष्ट्रीय राजमार्गों तथा राज्य राजमार्गों पर एनएचएआई तथा पीडब्ल्यूडी के द्वारा एंबुलेंस, पेट्रोलिंग एवं क्रेन वाहनों को रास्तों पर तैनाती भी सुनिश्चित की जाएगी।

चालकों का टूरिस्ट के प्रति व्यवहार, चालकों द्वारा वर्दी पहनना अनिवार्य।

ड्राइवरों को सुरक्षित वाहन चलाना और यातायात नियमों का पालन कराया जाना, चालकों का टूरिस्ट के प्रति व्यवहार, चालकों द्वारा अनिवार्य रूप से वर्दी पहनना, किसी प्रकार का नशा एवं पान गुटखा के सेवन से दूर रहना, वाहन की साफ-सफाई को सुनिश्चित किए जाने के संबध में और निर्धारित किराया से अधिक किराया किसी भी दशा में न वसूल किया जाए जैसे विषय इस प्रशिक्षण में शामिल होगा।

प्रवर्तन टीमों को पर्यटकों और श्रद्धालुओं के मदद के लिए भी लगाए जाने की भी परिवहन विभाग की बनी है योजना

अयोध्या की परिधि के 200 किमी. में सभी मार्गों पर इंटरसेप्टर वाहनों द्वारा प्रवर्तन टीमों को पर्यटकों और श्रद्धालुओं के मदद के लिए भी लगाए जाने की भी परिवहन विभाग ने योजना बनाई है। ये इंटरसेप्टर वाहन सड़क दुर्घटना से संबधित विषय समेत ओवरलोडिंग, ड्रंकन ड्राइविंग, ग़लत साइड ड्राइविंग, निर्धारित किराया से अधिक किराया लिए जाने, चालकों के ड्रेस कोड तथा सुरक्षा की दृष्टि से अन्य उपायों को अपनाए जाने के लिए जागरूक किए जाने के साथ-साथ आवश्यकता पड़ने पर प्रवर्तन विभाग कार्रवाई भी करेंगे।

*सुलतानपुर जिले की अलका चौधरी ने 632 रैक लाकर सी0पी0डब्ल्यू0डी में अवर अभियन्ता के पद पर हुई चयनित* https://kdnewslive.

सुलतानपुर जिले की अलका चौधरी ने 632 रैक लाकर सी0पी0डब्ल्यू0डी में अवर अभियन्ता के पद पर हुई चयनित ।