Barabanki- जहरीली शराब कांड में तीसरी मुठभेड़,ईनामी शानू कुरेशी समेत दो आरोपियों को किया गिराफ्तार

0 86

- Advertisement -

Barabanki Story- जहरीली शराब कांड में तीसरी मुठभेड़, पुलिस ने पैर में गोली मारकर ईनामी शानू कुरेशी समेत दो आरोपियों को किया गिराफ्तार, शराब में मिलाने के लिए थिनर समेत दूसरे केमिकल करता था सप्लाई

सीतापुर और बाराबंकी मिलावटी शराब कांड में पुलिस ने दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिराफ्तार एक आरोपी शानू कुरेशी पर पुलिस ने 25 हजार रुपये का ईमान रखा था। पुलिस से हुई मुठभेड में आरोपी शानू कुरेशी के दाहिने पैर पर गोली लगी है। उसे इलाज के लिए ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया है। शानू कुरेशी के साथ पुलिस ने विपिन अवस्थी को भी गिराफ्तार किया है। वहीं शराब कांड में अब तक 26 मौत हो चुकी है और मामले में कुल 10 आरोपियों को गिराफ्तार किया जा चुका है।

- Advertisement -


दरअसल पुलिस संदिग्ध वाहनों और लोगों की चेकिंग का अभियान चलाए हुए थी। उसी दौरान आरोपी शानू कुरेशी एक अन्य के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर नगर कोतवाली क्षेत्र के गदिया गांव से जा रहा था। पुलिस ने जब उसे रोकना चाहा तो दोनों ने टीम पर गोली चला दी। जिसके बाद जवाबी फायरिंग में पुलिस की गोली शानू कुरेशी के पैर में लगी और वह गिर गया। जिसके बाद शानू कुरेशी और साथ मे जा रहे विपिन अवस्थी को गिराफ्तार कर लिया गया। शानू कुरेशी जहरीली शराबकांड के आरोपियों को थिनर समेत दूसरे केमिकल सप्लाई करने का काम करता था। वह थिनर कानपुर से लखनऊ मंगवाता था और आरोपियों को सप्लाई कर देता था। शानू कुरेशी के नाम का खुलासा आरोपी सुनील जायसवाल ने पुलिस पूछताछ में किया था। जिसके बाद बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने शानू कुरेशी पर पच्चीस हजार का ईनाम घोषित कर उसकी गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें लगाई थीं।

बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक आर.एस. गौतम ने बताया कि पूरे जिले में संदिग्ध वाहन और लोगों की चेकिंग चल रही थी। इसी क्रम में नगर कोतवाली के गदिया चौकी क्षेत्र में एक संदिग्ध मोटरसाइकिल को देखा गया। जिसपर दो लोग सवार थे। पुलिस ने जब इन लोगों को रोका तो दोनों ने पुलिस पर फायर झोंक दिया। जिसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। पुलिस फायरिंग में आरोपी शानू कुरेशी के पैर में गोली लगी जबकि विपिन अवस्थी नाम के आरोपी को भी पुलिस ने दबोच लिया। शानू कुरेशी ही आरोपी सुनील जायसवाल को शराब में मिलाने के लिए थिनर और दूसरे केमिकल मुहैया कराता था। जिसे सुनील जायसवाल बाराबंकी और सीतापुर के ठेकों में सप्‍लाई कर देता था। शानू पर पुलिस ने 25 हजार रुपये का ईनाम रखा था।


बाइट- आर.एस. गौतम, अपर पुलिस अधीक्षक, बाराबंकी।

रिपोर्टर सैफ मुख्तार