रायबरेली-अमोल विहार में बनेंगे 3.25 करोड़ के एमआईजी भवन रिपोर्ट- हिमांशु शुक्ला ।

0 153

- Advertisement -

अमोल विहार में बनेंगे 3.25 करोड़ के एमआईजी भवन

रिपोर्ट- हिमांशु शुक्ला

- Advertisement -

रायबरेली। रायबरेली विकास प्राधिकरण (आरडीए) की ओर से करीब 3.25 करोड़ की लागत से अमोल विहार में एमआईजी भवनों का निर्माण कराया जाएगा। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जून महीने के पहले सप्ताह में भवनों के निर्माण का काम शुरू हो जाएगा। लोकसभा चुनाव से पहले ही शहर के अमोल विहार में एमआईजी भवनों के निर्माण के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई थे। टेंडर डाले गए थे, लेकिन चुनाव के कारण पूरी प्रक्रिया रुक गई थी। चुनाव खत्म होने के बाद शुक्रवार को टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही इसी सप्ताह एमआईजी भवनों के निर्माण का काम शुरू कराने के आदेश दिए गए हैं।

गौरतलब है कि करीब 3.25 करोड़ रुपये की लागत से 18 भवनों का निर्माण होना है।एमआईजी भवन एलॉट कराने के लिए चुनाव से पहले ही लोगों ने आवेदन जमा करके पंजीयन करा लिया है। इन भवनों के पूर्ण होने के बाद उनका आवंटन किया जाएगा। निर्माण का काम पूरा होने के बाद सभी भवनों को लाटरी के माध्यम से लोगों को आवंटित किया जाएगा। हालांकि 18 एमआईजी भवनों के लिए 18 लोगों ने ही आवेदन किया हैं। ऐसे में सभी को आशियाना मिलना लगभग तय है।आरडीए ने प्रतर्वन कार्य में लगाए गए अवर अभियंताओं के जोन में अदला-बदली कर दी है। काफी समय से प्रवर्तन से बाहर रहे जेई महेंद्र शर्मा की एंट्री हो गई है। महेंद्र को जोन छह का काम दिया गया है।इसके अलावा अवर अभियंता विनय कुमार श्रीवास्तव को एक व 4बी, धनेश कुमार को दो व 4ए, रवीश चंद्र अग्रवाल को जोन तीन, सुनील कुमार त्यागी को जोन संख्या पांच व आठ और राम मनोहर द्विवेदी को जोन संख्या सात व नौ की जिम्मेदारी दी गई है। सभी को तत्काल नए जाने में काम शुरू करने के आदेश दिए गए हैं। आरडीए सचिव एके राय ने बताया कि अमोल विहार में एमआईजी भवनों के निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। इसी सप्ताह काम शुरू हो जाएगा। प्रवर्तन कार्य में लगे अवर अभियंताओं के जोन बदल दिए गए हैं। हर तीन माह में जोन बदलने के आदेश हैं।