अमेठी।प्रत्येक माता पिता को अपनी प्रत्येक संतान में उत्तम संस्कार डाले-आचार्य डॉ राजमणि मिश्र

0 302

- Advertisement -

अमेठी।प्रत्येक माता पिता को अपनी प्रत्येक संतान में उत्तम संस्कार डाले-आचार्य डॉ राजमणि मिश्र

चंदन दुबे की रिपोर्ट

- Advertisement -

आज संग्रामपुर के बनवीरपुर में रामलखन दुबे के यहा श्रीमद भागवत कथा का अंतिम दिन है जिसमे आज कथा व्यास पं डॉ राजमणि मिश्र(बाल व्यास) ने प्रसंग सुनाये सुभद्राहरण,वेदस्तुति, शिवजी का संकटमोचन, भृगुजी द्वारा त्रिदेवो की परीक्षा शिव,ब्रम्हा एवं विष्णु की, ब्राह्मण बालक को वापस लाना, भगवान श्री कृष्ण के लीला विहार का वर्णन, यदुवंश को ऋषियों का श्राप, वासुदेव के पास श्री नारद जी का आना उन्हें राजा जनक तथा नौ योगेश्वरो का संबाद सुनाना, माया, माया के पार होने का उपाय, कर्मयोग आदि बाते बताई संगीतमयी प्रस्तुति में भक्त लोग झूमने लगे।

इस भागवत कथा में रामयज्ञ सिंह, ब्रम्हानंद दुबे, सुनील दुबे, राजू दुबे, लवलेश दुबे श्रीनारायण सिंह, आदि ग्रामवासी मौजूद रहे।