सपा नेता और उनके पुत्र के विरुद्ध मुकदमा दर्ज-जौनपुर

0 183

- Advertisement -

सपा नेता और उनके पुत्र के विरुद्ध मुकदमा दर्ज
जौनपुर

रिपोर्ट मनीष
जौनपुर। 27 अप्रैल की रात्रि उपजिलाधिकारी मड़ियाहूं द्वारा दिए गए निर्देश के क्रम में आपूर्ति निरीक्षक की टीम द्वारा सूरज राइस मिल ग्राम पंचायत जौनपुर विकासखंड रामनगर मड़ियाहूं में छापा मारा गया छापे के दौरान कूल 412 बोरिया चावल की पाई गई जिसमें से 20 बोरियां मशीन से सिली हुई पीसी एप चंदौली का टाइम लगा हुआ पाया गया था फिर 392 बोरी चावल में हाथ से सिलाई थी और सूरज राइस मिल का टैग लगा था जांच के समय जिला प्रबंधक पीसी एफ जौनपुर व सचिव जिला सहकारी फेडरेशन लिमिटेड जौनपुर द्वारा लिखित रूप से अवगत कराया गया है कि वर्ष 2018- 19 मैं सूरज राइस मिल धान कुटाई हेतु संबंध है जिसका वहां कुल 6137 . 80 कुंटल धान कुटाई हेतु के लिए दिया गया था जिसके सापेक्ष निगम द्वारा देय सीएम आर केसापेक्ष3877.15कुंतल चावल भारतीय खाद्य निगम प्रेषित किया गया है मिल पर 235.05कु0 चावल और शेष सीएमआर चावल है जिसका प्रेषण भारतीय खाद्य निगम को किया जाना है। जिला प्रबंधक पीसीएफ जौनपुर के पत्र के क्रम में मात्र 20 बोरियां जो मशीन से सिली हुई पीसीएस चंदौली का टैंक लगा था इसलिए उक्त 20 बोरिया अवैध रूप से सूरज राइस मील के परिसर में पाए जाने के कारण मिल के प्रोपराइटर सपा नेता चंद्रभान यादव एवं उनके पुत्र राजेश कुमार के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3 /7 के अंतर्गत जिलाधिकारी के आदेश से प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।मालूम हो कि शुक्रवार की रात एचडी एम चंद्रशेखर को मुखबिर ने सूचना दी कि सपा नेता चंद्रभान की जौगीपुर गांव स्थित सूरज राइस मिल पर भारी मात्रा में अवैध ढंग से सार्वजनिक वितरण प्रणाली का चावल रखा हुआ है।
एसडीएम के निर्देश पर तहसीलदार संजीव कुमार राय के नेतृत्व में नायब तहसीलदार अजय मौर्य आपूर्ति निरीक्षक पंकज सिंह आपूर्ति निरीक्षक सुशील पांडे लेखपाल पंकज पाठक एस आई गोपाल जी तिवारी के साथ मिलकर शुक्रवार की रात करीब 11:00 बजे छापेमारी की तलाशी के दौरान मील से अवैध ढंग से रखा सार्वजनिक वितरण प्रणाली का 412 बोरी सरकारी चावल बरामद हुआ मिल संचालक व कर्मचारी मौके से फरार हो गए। बाद में मिल संचालक के पुत्र राजेश यादव ने अपना बयान दर्ज कराया। आपूर्ति निरीक्षक पंकज सिंह ने बताया कि बरामद कालाबाजारी के लिए रखा गया था बरामद चावल की बोरियों पर अलग-अलग स्थानों के राइस मिलों का टाइम लगा है तहसीलदार संजीव कुमार राय ने बताया कि आरोपित नील संचालक के विरुद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कराने की प्रक्रिया चल रही है। बरामद चावल वरिष्ठ वितरण निरीक्षक आलोक कुमार की सुपुर्दगी में दे दिया गया है। छापेमारी से सार्वजनिक वितरण प्रणाली निखिल करने वालों व खाद्यान्न माफियाओं में हड़कंप मच गया है

- Advertisement -