अयोध्या-(बेबाक इंटरब्यू )- विदेश के लोग भी हुए कायल,भारतीय संस्कृति सभ्यता परंपरा व धरोहर की

0 242

- Advertisement -

भारतीय संस्कृति सभ्यता परंपरा है ऐसी धरोहर, जिसके विदेशी भी है कायल।

अयोध्या जिले के भरतकुंड नंदीग्राम पावन भूमि की महिमा की गाथा पौराणिक कथाओं कथा में वर्णित है जहां पर राम के वनवास के बाद भरत ने वास लिया था और विशेष परिस्थिति में हनुमान जी से उनकी मुलाकात हुई थी ऐसी पावन पुण्य भूमि का दर्शन बंधन केवल वहां के क्षेत्रीय लोग ही नहीं करते बल्कि विदेशों से लोग भी भारत की संस्कृति को जानने पहचानने रीति रिवाजों से परिचित होने खेती करने के ढंग से को सीखने हमारी इस पुण्य भूमि पर आते रहते हैं ऐसे ही 3 विदेशी पर्यटक जिनका आगमन साइप्रस अमेरिका और इटली देशों से हुआ उन्होंने अपने आने का उद्देश्य परिचित कराते हुए भारतीय संस्कृति को जानने पहचानने की यहां की खेती बारी की विधियो को सीखने की बात कही।

- Advertisement -

(अयोध्या के रिपोर्टर द्वारा लिया गया इंटरब्यू)

विदेश की धरती से आये हुए पर्यटकों को के.डी न्यूज़ के एडिटर ने शुभकामनाएं दीं