जौनपुर-मतगणना तक रुतबा नहीं दिखा सकेंगे माननीय

0 158

- Advertisement -

मतगणना तक रुतबा नहीं दिखा सकेंगे माननीय
जौनपुर रिपोर्ट मनीष पाठक


जौनपुर। गाड़ियों पर बड़ा सा पद नाम और झंडा के साथ निकलने वाले माननीय मतगणना तक रुतबा नहीं दिखा सकेंगे। अचार संगीता के चलते उनको गाड़ी पर लगे झंडा और हूटर यहां तक की अपने नाम की प्लेट तखत मानी पड़ेगी। ऐसा न करने पर आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा और बीच सड़क पर उनका वाहन सीज किया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी को आचार संगीता संबंधित कानून को सही से लागू करने के निर्देश जारी किए हैं। उनके निर्देश के बाद चेकिंग अभियान भी तेज कर दिया गया है। प्रशासनिक अमला भी पूरी तैयारियों के साथ नियमों का पालन करने में जुटा हुआ है। आचार संगीता लगते ही एक्शन में आए पुलिस प्रशासन ने जहां चेकिंग अभियान तेज किया है तो प्रशासन भी होल्डिंग बैनर के खिलाफ अभियान छेड़ चुका है। अब तक जिलेभर में अधिकांश स्थानों से होर्डिंग बैनर हटवा दिया गया है। इसके साथ ही अब वाहनों पर आयोग का चाबुक चल रहा है। वह वाहन चेक किए जा रहे हैं जिन पर सीआईसी लोगों ने अपने पद नाम के साथ साथ झंडा बैनर लगा लिया है। हूटर के साथ साथ पदनाम राजनीतिक पार्टियों के झंडे वाहनों से करवाए जा रहे हैं। सिस्टम का खौफ है कि माननीय खुद ही अपनी गाड़ियों पर लिखें पदनाम धक रहे हैं तो झंडे के साथ होटल भी उतार कर रख लिए हैं। अब वह मतगणना तक झंडा होटल और पद नाम नहीं लिख पाएंगे। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शहर में से लेकर देहात तक चेकिंग अभियान चलाया गया है। पुलिस फोर्स के साथ सड़कों पर उतरे मजिस्ट्रेट वाहनों से लेकर घरों पर लगी प्रचार सामग्री को हटवा दे रहे। हर चौराहे पर वाहनों को चेक किया तो कई वाहनों को सीज करने के साथ जुर्माना भी वसूला गया। हालांकि आचार संहिता उल्लंघन का कोई मामला भी दर्ज नहीं हुआ है चुनाव आयोग की सख्ती के चलते अधिकारी किसी भी तरह की कोई लापरवाही नहीं कर रहे हैं। चुनाव को शांतिपूर्ण करवाने के लिए प्रशासनिक अमले द्वारा तैयारी की जा रही है तो अचार संगीता के नियमों का भी पाठ लगभग पढ़ाया जा चुका है। रोजाना थानों में वोटरों के साथ बैठक कर उनको दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं तो मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए हर किसी से मतदान करने की अपील भी की जा रही है। इसके लिए जागरुकता रैलियों का आयोजन किया जा रहा है तो जल्द ही एलईडी बहन को गांव की ओर निकाला जाएगा। इन्हीं तैयारियों के बीच आचार संगीता का कहीं उल्लंघन ना हो इसके लिए अभियान भी छोड़ा जा रहा है। चुनाव के लिए बनाए गए मजिस्ट्रेट की निगरानी में ही चेकिंग अभियान चलाए जा रहे हैं।

- Advertisement -